breaking news New

राष्ट्रीय सेवा योजना का स्वर्ण जयंती समारोह: मुख्यमंत्री ने की कई बड़ी घोषणाएं

राष्ट्रीय सेवा योजना का स्वर्ण जयंती समारोह: मुख्यमंत्री ने की कई बड़ी घोषणाएं

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वर्ण जयंती के अवसर पर रायपुर के साइंस कॉलेज मैदान स्थित पंडित दीनदयाल उपाध्याय ऑडिटोरियम में आयोजित राज्य स्तरीय स्थापना दिवस एवं सम्मान समारोह में कई बड़ी घोषणाएं की। उन्होंने राष्ट्रीय सेवा योजना के सात दिवसीय राज्य स्तरीय विशेष शिविर के आयोजन के लिए राज्य शासन की ओर से प्रतिवर्ष 10 लाख रुपए का अनुदान देने, राष्ट्रीय सेवा योजना के पुरस्कारों की संख्या 7 से बढ़ाकर 26 करने और सम्मलित पुरस्कारों की राशि 50 हजार रूपए से बढ़ाकर तीन लाख करने की घोषणा की। 

मुख्यमंत्री ने राज्य स्तरीय राष्ट्रीय सेवा योजना पुरस्कार योजना के अंतर्गत संस्थाओं को दिए जाने वाले संस्थागत पुरस्कार की राशि 10 हजार रूपए से बढ़ाकर 20 हजार रूपए, कार्यक्रम अधिकारी पुरस्कार की राशि 5 हजार से बढ़ाकर 11 हजार रुपए और छात्रों के लिए स्वयंसेवक के पुरस्कार की राशि 4500 रूपए से बढ़ाकर 10 हजार रूपए करने की घोषणा की।

राज्य स्तरीय राष्ट्रीय सेवा योजना के तहत अभी एक संस्था को पुरस्कृत किया जाता है, अब दो संस्थाओं एक महाविद्यालय और एक विद्यालय को यह पुरस्कार दिया जाएगा। वर्तमान में दो कार्यक्रम अधिकारियों को सम्मानित किया जा रहा है, अब चार कार्यक्रम अधिकारियों को सम्मानित किया जाएगा। वर्तमान में चार स्वयंसेवक (छात्र-छात्राओं) को सम्मानित किया जा रहा है, अब महाविद्यालय के 10 और विद्यालय के 10 कुल 20 विद्यार्थियों को सम्मानित किया जाएगा।

समारोह में उपस्थित राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयंसेवक विद्यार्थियों ने अपने स्थान पर खड़े होकर ताली बजाकर मुख्यमंत्री की इन घोषणाओं का स्वागत किया। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कहा कि सेवा और समर्पण, त्याग और बलिदान से ही राष्ट्र निर्माण हो सकता है। युवा राष्ट्रीय सेवा योजना के उद्देश्यों को आत्मसात कर देश के अनुशासित और जिम्मेदार नागरिक बने।