breaking news New

पहले दिन यूएई से केरल के 359 लोग दो विमानों से वतन लौटे, आज बांग्लादेश से 167 लोग श्रीनगर आएंगे

पहले दिन यूएई से केरल के 359 लोग दो विमानों से वतन लौटे, आज बांग्लादेश से 167 लोग श्रीनगर आएंगे

वंदे भारत मिशन के दूसरे दिन आज एयर इंडिया की फ्लाइट बांग्लादेश से 167 लोगों को लेकर श्रीनगर पहुंचेगी। इनमें जम्मू-कश्मीर के वे सभी मेडिकल स्टूडेंट शामिल हैं जो बांग्लादेश में हैं। इससे पहले अबू धाबी में फंसे 177 भारतीयों को लेकर एयर इंडिया की पहली फ्लाइट गुरुवार रात कोच्चि इंटरनेशनल एयरपोर्ट पहुंची। एयरलाइन के प्रवक्ता ने बताया कि इसके बाद एक और फ्लाइट दुबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट से कोझिकोड इंटरनेशनल एयरपोर्ट पहुंची। इसमें 182 भारतीय सवार थे। 5 लोगों में कोरोनावायरस के लक्षण दिखने पर उन्हें आइसोलेशन वार्ड में भेजा गया।

एयर इंडिया की फ्लाइट नंबर आईएक्स-452 अबू धाबी से कोच्चि रात 10 बजकर 9 मिनट पर पहुंची। इस फ्लाइट से आने वालों में 4 बच्चे भी थे। वहीं, एयर इंडिया की फ्लाइट नंबर आईएक्स 344 दुबई से कोझिकोड 182 यात्रियों को लेकर करीब 10.45 मिनट पर पहुंची। इनमें 5 बच्चे शामिल थे।

दूसरी ओर एयर इंडिया ने भारत में फंसे यूके, अमेरिका और सिंगापुर के नागरिकों और वैध वीजा धारकों के लिए भी बुकिंग शुरू कर दी है। विदेशों में फंसे भारतीयों को लाने के लिए वंदे भारत मिशन के तहत जो फ्लाइट इन तीन देशों में जाएंगी, उनमें इधर से भी लोग जा सकेंगे। सिंगापुर के लिए एयर इंडिया की पहली फ्लाइट गुरुवार रात 11 बजकर 20 मिनट पर रवाना हुई। इसमें एक यात्री सवार था।

भारत से जाने वाली उड़ानों में कौन बुकिंग कर सकता है?

वंदे भारत मिशन के पहले फेज में विदेश में फंसे भारतीयों को लाने के लिए वैसे तो एयर इंडिया की फ्लाइट 12 देशों में जाएंगी। लेकिन, दोनों तरफ आवाजाही की सुविधा फिलहाल यूके, अमेरिका और सिंगापुर जाने वाली उड़ानों के लिए शुरू की गई है। इन तीन देशों के जो लोग भारत में फंसे हैं या जिनके पास इन देशों का वीजा या ग्रीन कार्ड हैं वे चाहें तो टिकट बुक कर सकते हैं।

किराया कितना होगा?

विदेशियों से भी उतना ही किराया लिया जाएगा जितना भारतीयों से लिया जा रहा है। भारत-अमेरिका फ्लाइट के लिए 1 लाख लिए जाएंगे। भारत से सिंगापुर की फ्लाइट का किराया 20 हजार रुपए है। यूके की फ्लाइट के 50 हजार रुपए लिए जाएंगे।

वंदे भारत मिशन

कोरोना की वजह से दुनिया भर में फंसे भारतीयों की वतन वापसी के लिए सरकार ने वंदे भारत मिशन शुरू किया है। 1990 के खाड़ी युद्ध के बाद ये सबसे बड़ा एयरलिफ्ट ऑपरेशन होगा। इसका पहले फेज 7 दिन चलेगा। इस दौरान 12 देशों से 64 विमानों में 14 हजार 800 लोग भारत लाए जाएंगे।

यात्रियों को फ्लाइट का किराया खुद देना होगा

विदेशों में फंसे लोगों को लाने के लिए सरकार ने जो नियम तय किए हैं उनके मुताबिक लोगों को फ्लाइट का किराया खुद ही देना होगा। अमेरिका से आने वाली फ्लाइट का किराया सबसे ज्यादा एक लाख रुपए होगा। लंदन से आने वालों को 50 हजार रुपए देने होंगे।