breaking news New

वरिष्ठ वकील राम जेठमलानी का 95 साल की उम्र में निधन, पिछले कुछ समय से थे बीमार

वरिष्ठ वकील राम जेठमलानी का 95 साल की उम्र में निधन, पिछले कुछ समय से थे बीमार

वरिष्ठ वकील रहे राम जेठमलानी का रविवार को देहांत हो गया. वह 95 साल थे. जेठमलानी के बेटे महेश के हवाले से समाचार एजेंसी पीटीआई ने बताया कि जेठमलानी की तबियत कुछ महीनों से ठीक नहीं थी.  उन्होंने नई दिल्ली स्थित अपने घर में सुबह पौने आठ बजे अंतिम सांस ली. महेश ने बताया कि उनके पिता का अंतिम सरकार यहां लोधी रोड स्थित शवदाहगृह में आज शाम को किया जाएगा. महेश ने बताया कि कुछ दिन बाद 14 सितंबर को राम जेठमलानी का 96वां जन्मदिन आने वाला था.

राम जेठमलानी सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता थे. इनकी गिनती देश के नामचीन क्रिमिनल वकीलों में की जाती रही है. वे भाजपा और राजद की ओर से राज्यसभा सांसद भी रह चुके हैं. जेठमलानी का जन्म सिंध (पाकिस्तान) के शिकारपुर में 14 सितंबर 1923 को हुआ था और बंटवारे के बाद वह भारत आ गए थे.

जेठमलानी के काम हमेशा रहेंगे: पीएम मोदी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जेठमलानी के साथ अपनी एक तस्वीर साझा कहते हुए कहा, 'राम जेठमलानी के रूप में देश ने एक शानदार वकील और प्रतिष्ठित व्यक्ति खो दिया. उनका योगदान से कोर्ट और संसद दोनों के लिए अहम है. उन्होंने कभी भी किसी भी मुद्दे पर अपनी भावनाएं व्यक्त करने में हिचकिचाहट महसूस नहीं की। उनकी सबसे बड़ी खासियत यह थी कि वह सिर्फ अपने मन की बात बोलते थे. मैं खुद को भाग्यशाली समझता हूं कि कई मौकों पर उनसे बात करने का मौका मिला. दुख की घड़ी में उनके परिवार, मित्रों और समर्थकों के प्रति मेरी संवेदनाएं. वह आज भले ही यहां न हों, लेकिन उनके किए गए काम हमेशा रहेंगे