breaking news New

गोवर्धन पूजा को गौठान दिवस के रूप में मनाये जाने की घोषणा : मुख्यमंत्री शामिल हुए श्रीमद्भागवत ज्ञानयज्ञ सत्संग समारोह में

गोवर्धन पूजा को गौठान दिवस के रूप में मनाये जाने की घोषणा :  मुख्यमंत्री शामिल हुए श्रीमद्भागवत ज्ञानयज्ञ सत्संग समारोह में

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ में परंपरागत रूप से मनाए जाने वाले त्यौहार ’गोवर्धन पूजा’ को गौठान दिवस के रूप में मनाये जाने की घोषणा की है। गोवर्धन पूजा के दिन प्रदेश के ग्रामीण अंचलों में गौ-माता की पूजा कर गौवंश को खिचड़ी खिलाने की परंपरा है। प्रदेश सरकार गौ-वंश के संरक्षण के लिए गौठान योजना संचालित कर रही है।

मुख्यमंत्री बघेल ने बेमेतरा जिले के बेरला विकासखंड के अंतर्गत ग्राम भिंभौरी में आयोजित श्रीमद्भागवत ज्ञानयज्ञ सत्संग कार्यक्रम आभार एवं अभिनंदन समारोह में उक्ताशय के विचार व्यक्त किए। समारोह में प्रदेश केे गृहजेल एवं पर्यटन मंत्री ताम्रध्वज साहू, कृषि एवं जैव प्रौद्योगिकी, पशुपालन, जलसंसाधन मंत्री रवीन्द्र चौबे, राज्यसभा सांसद छाया वर्मा उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कहा कि प्रदेश सरकार गौ-वंश के संरक्षण के लिए कार्य कर रही है। प्रदेश में गौठान का निर्माण कर पशुओं का संरक्षण किया जा रहा है। उन्होंने लोगों से आव्हान करते हुए कहा कि गौठान के लिए चारे की व्यवस्था जनता के सहयोग से करना है। इस योजना में सरकार की सहभागिता के अलावा संचालन करने का काम गांव वालों को ही करना है।

गोबर से कंपोस्ट एवं वर्मी खाद बना रहे है। हाल ही में अभनपुर ब्लॉक के अंतर्गत ग्राम बनचरौदा में राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत का आगमन भी हो चुका है। उन्होंने गौठान योजना की तारीफ की है। श्री बघेल ने कहा कि गोबर में मिट्टी मिलाकर महिला समूह द्वारा एक लाख दियों का निर्माण किया गया है, दिवाली के पूर्व इसे बेचने के लिए आर्डर भी मिल चुका है। मुख्यमंत्री ने आम नागरिकों से प्लास्टिक का कम से कम उपयोग करने का आव्हान किया। इससे पालतु मवेशियों को नुकसान हो रहा है। उन्होंने कहा कि गौठान योजना के जरिये पशु नस्ल का सुधार होगा। इससे गांव समृद्ध बनेंगे। महिला स्व-सहायता समूह की स्थिति भी मजबूत होगी। 

मुख्यमंत्री श्री बघेल ने इस अवसर पर शब्दभेदी बाण में निपुण स्व. कोदूराम वर्मा की प्रतिमा का अनावरण किया। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने भिंभौरी में संचालित जनता उच्चत्तर माध्यमिक विद्यालय का नामकरण पूर्व प्राचार्य एवं शिक्षाविद् स्व. रतनलाल टिकरिहा के नाम पर करने की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने ग्राम उपरा से हसदा सड़क एवं गुधेली-भंेगरी घाट में एनीकट निर्माण को आगामी बजट में शामिल करने का भरोसा दिलाया। 

गृहमंत्री श्री साहू ने कहा कि वे वर्ष 2008 में बेमेतरा क्षेत्र के विधायक तत्पश्चात दुर्ग लोकसभा क्षेत्र के सांसद होने के नाते बेमेतरा जिले से जुड़े रहे है। स्व. कोदूराम वर्मा शब्दभेदी बाण चलाते थे। आज मुख्यमंत्री के कर-कमलों से प्रतिमा का अनावरण किया गया। मुख्यमंत्री छत्तीसगढ़ के विकास के लिए निरंतर कार्य कर रहे है। 

कृषि मंत्री श्री चौबे ने कहा कि शब्दभेदी बाण में निपुण स्व. वर्मा छत्तीसगढ़िया की ताकत का अहसास कराते थे। मुख्यमंत्री ने कार्यभार संभालते ही किसानों से किया गया वायदा तत्काल पूरा किया। मुख्यमंत्री ने छत्तीसगढ़ के पारंपरिक तीज-त्यौहार हरेली, तीजा, माता कर्मा जयंती, आदिवासी दिवस पर अवकाश घोषित किया है। मुख्यमंत्री ने जब से कार्यभार संभाला है, किसानों का मान-सम्मान भी बढ़ा है। समर्थन मूल्य पर 25 सौ रूपए प्रति क्ंिवटल की दर से धान खरीदा गया। 

स्वागत भाषण क्षेत्रीय विधायक आशीष कुमार छाबड़ा ने दिया। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने अपने आठ-नौ माह के कार्यकाल में जनता की बेहतरी के लिए अनेक ऐतिहासिक निर्णय लिये है। मुख्यमंत्री बघेल प्रदेश के सर्वांगीण विकास के लिए निरंतर कार्य कर रहे है। 

इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती कविता साहू, जिला पंचायत अध्यक्ष रायपुर श्रीमती शारदा वर्मा, कलेक्टर श्रीमती शिखा राजपूत तिवारी, पुलिस अधीक्षक श्री प्रशांत ठाकुर, सहित अनेक जनप्रतिनिधि, गणमान्य नागरिक एवं श्रद्धालुजन बड़ी संख्या में उपस्थित थे।