breaking news New

इंदौर में 3 दिनों तक देश का सबसे सख्त लॉकडाउन, बाहर घूमने पर होगी जेल

इंदौर में 3 दिनों तक देश का सबसे सख्त लॉकडाउन, बाहर घूमने पर होगी जेल
मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में मंगलवार को कोरोना संक्रमण के 12 नए मामले सामने आए। इसी के साथ प्रदेश में कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़कर 274 हो गई है। प्रदेश में अब तक 17 मरीजों की मौत हुई है। उधर, भोपाल में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी/कर्मचारी और पुलिसकर्मियों के संक्रमित होने के मामले भी बढ़ रहे हैं। यहां मिले 75 मरीजों में 34 अकेले स्वास्थ्य विभाग के हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने लॉकडाउन का पालन नहीं करने वालों पर सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। संक्रमण रोकने के लिए सभी जिलों में टोटल लॉकडाउन का आदेश दिया गया है। अगर कोई कोरोना संक्रमण को छिपाता है या जांच में सहयोग नहीं करता तो यह गंभीर अपराध होगा। ऐसे लोगों को एफआईआर दर्ज कर और जेल भेजा जाएगा। 

भोपाल में दो दिन से टोटल लॉकडाउन है। पुलिस पुराने शहर में गश्त कर लोगों को घरों में रहने की हिदायत दे रही है, लेकिन सोमवार रात बाहर घूम रहे कुछ लोगों ने दो पुलिसकर्मियों पर चाकू से हमला कर दिया। पुलिस आरोपियों के खिलाफ रासुका के तहत कार्रवाई करेगी। दूसरी ओर, टोटल लॉकडाउन होने से लोगों को जरूरी सामान मिलना बंद हो गया है। यहां किराना और दूध की सप्लाई भी बाधित हुई है।

कर्फ्यू का उल्लंघन करने वालों पर पुलिस मंगलवार से सख्ती करेगी। पुलिस की गाड़ियां शहर में घूमेंगी। जो व्यक्ति बिना काम बाहर घूमता मिलेगा, किराना की दुकान खुली रखेगा या सब्जियां बेचता मिलेगा, उसे गिरफ्तार किया जाएगा। महत्वपूर्ण बात यह है कि जो इन दुकानों या ठेलों से खरीदारी करेगा, उसे भी गिरफ्तार कर जेल भेजा जाएगा। इसके लिए कलेक्टर मनीष सिंह ने सांवेर रोड स्थित श्री वैष्णव विद्यापीठ विश्वविद्यालय के प्रथम तल को 30 दिन तक अस्थायी जेल घोषित किया है। किराना की दुकानें खोलने, सब्जियां बेचने पर पुलिस ने आठ लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर गिरफ्तार किया है। शहर में 60 से ज्यादा लोगों पर कार्रवाई की है। तिलक नगर पुलिस ने भी कर्फ्यू का उल्लंघन करने पर छह पर केस दर्ज किया। इंदौर में अब तक 151 कोरोना पॉजिटिव पाए गए। यहां महामारी से मरने वालों की संख्या 13 हो गई है। एक अच्छी खबर भी आई। सोमवार को कोरोना से जंग जीतकर 11 मरीज अस्पताल से डिस्चार्ज हो गए