breaking news New

छत्तीसगढ़ : प्रत्याशियों के खर्च की सीमा तय, निगम पार्षद प्रत्याशी 5 लाख , पालिका में 1 .30 लाख तो नपं में 50 हजार तय

छत्तीसगढ़ : प्रत्याशियों के खर्च की सीमा तय, निगम पार्षद प्रत्याशी 5 लाख , पालिका में 1 .30  लाख तो नपं में 50 हजार तय

नगरीय निकाय चुनाव का नियम बदलने के बाद पार्षद प्रत्याशियों के खर्च की सीमा तय की है। पहले महापौर के लिए ही खर्च करने की सीमा तय थी। इस बार पार्षद ही महापौर व नगर पालिका और नगर पंचायत में अध्यक्ष का चुनाव करेंगे। आबादी के हिसाब से खर्च की सीमा तय की है। 3 लाख से अधिक की आबादी वाले निगम के पार्षद प्रत्याशी को 5 लाख और इससे कम आबादी वाले निकायों के प्रत्याशियों को 3 लाख खर्च करने की छूट रहेगी। 

पार्षद प्रत्याशियों को सोच-समझकर खर्च करना होगा। जिस तरह महापौर प्रत्याशी के लिए खर्च की सीमा के साथ ही सामान की दर तय थी। उसी तर्ज पर पार्षद प्रत्याशियों के लिए दर तय है। सोफे के लिए 7 हजार रुपए तो बड़े माला के लिए 700 रुपए जोड़ा जाएगा। हालांकि पार्षद प्रत्याशी घर-घर दस्तक देने में अधिक रुचि लेते हैं। आम सभाएं कम होती है। इसके बाद भी दर निर्धारित कर दी गई है।

विधानसभा व लोकसभा चुनाव की तर्ज पर प्रत्याशियों को नामांकन से पहले अपना खाता खुलवाना होगा। इसी खाते से ही वह खर्च कर सकेगा। जब आय-व्यय का ब्योरा देंगे उस समय इसकी जानकारी भी देनी होगी। एक-एक झंडे बैनर का हिसाब देना होगा। जहां महापौर दावेदार चुनाव मैदान में होंगे वहां खर्च भी अधिक होगा। वहां अधिकारियों की टीम की नजर रहेगी।