breaking news New

संजीवनी-108 की मदद से बची गंभीर रूप से घायल महिला की जान

संजीवनी-108 की मदद से बची गंभीर रूप से घायल महिला की जान

जरूरतमंदों को आपातकालीन सेवा पहुँचाने में जय अम्बे इमरजेंसी सर्विसेज संजीवनी - 108 ( जैश) की एम्बुलेंस सेवा महती भूमिका निभा रही है. आज इसका एक और प्रत्यक्ष उदाहरण सरगुजा जिले में देखने को मिला। जहां एक सड़क हादसे में गंभीर रूप से घायल जिले की केटी बफोली की निवासी 36 वर्षीय महिला डोंगरी बाई, पति कमल सिंह को तुरंत उपचार मिलने से उसकी जान बचाई जा सकी.

मिली जानकारी के अनुसार महिला अपने पति के साथ बाइक से जा रही थी, इसी दौरान सामने से आ रही चार पहिया वाहन के साथ बाइक की टक्कर हो गई। इस हादसे में डोंगरी बाई के पैर और चेहरे में गंभीर चोटें आई हैं। रास्ते में चल रहे राहगीरों ने तुरंत संजीवनी - 108 की एम्बुलेंस को इस घटना की सूचना दी। 

घटना की सूचना मिलने के महज 15 मिनट के भीतर  जैश - 108 की एम्बुलेंस घटना स्थल पर पहुंच गई.  स्पॉट पर ही घायल महिला का प्राथमिक इलाज कर तुरंत ही उसे जिला अस्पताल अम्बिकापुर में पहुंचाया गया. परिजनों ने आपातकालीन समय में प्राथमिक उपचार मिलने और एम्बुलेंस की सहायता से तत्काल अस्पताल पहुँचाने पर ख़ुशी व्यक्त की.  

ज्ञात हो कि बीते दिनों पूर्व जोगिडीपा में भी एक बुजुर्ग व्यक्ति को अज्ञात वाहन ने ठोकर मार दी थी, हादसे की सूचना मिलते ही घायल गोपी लाल साहू उम्र 65 वर्ष निवासी धनसर को प्राथमिक उपचार करने के बाद संजीवनी- 108 की मदद से उन्हें तुरंत बिलाईगढ़ अस्पताल पहुंचाया गया। 

वर्त्तमान समय में आपातकालीन सेवाओं के लिए राज्य सरकार द्वारा चलाये जा रहे 108  सेवा का संचालन जय अम्बे इमरजेंसी सर्विसेज (जैश) द्वारा किया जा रहा है.