breaking news New

करतारपुर कॉरिडोर : पाकिस्तान सिख श्रद्धालुओं से फीस लेने पर अड़ा, भारत से हर साल कमाएगा 259 करोड़ रु.

करतारपुर कॉरिडोर : पाकिस्तान सिख श्रद्धालुओं से फीस लेने पर अड़ा, भारत से हर साल कमाएगा 259 करोड़ रु.

सिखों के आस्था के केंद्र करतारपुर साहिब गुरुद्वारे के दर्शन के लिए बनाए गए गलियारे को पाकिस्तान कमर्शियल कॉरिडोर की तरह इस्तेमाल करना चाहता है। वह भारत से जाने वाले हर सिख श्रद्धालु से 20 डॉलर यानी करीब 1420 रुपए लेने पर अड़ा है। भारत के कई बार कहने के बावजूद पाकिस्तान ने फीस हटाने से इनकार कर दिया है।

इमरान सरकार ने कहा है कि बिना शुल्क दिए श्रद्धालुओं को मत्था टेकने नहीं दिया जाएगा। पाकिस्तान ने रोजाना 5 हजार श्रद्धालुओं को करतारपुर साहिब में माथा टेकने की इजाजत दी है। हर साल 18 लाख सिख श्रद्धालु जाएंगे तो पाकिस्तान को 259 करोड़ रुपए मिलेंगे। हालांकि, सिख श्रद्धालु बिना वीजा दर्शन कर सकेंगे, लेकिन पासपोर्ट दिखाना होगा।

31 अक्टूबर तक पूरा होगा कॉरिडोर का निर्माण

4.2 किलोमीटर लंबे कॉरिडोर का निर्माण सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव की 550वीं जयंती से एक हफ्ते पहले 31 अक्टूबर तक पूरा होगा। करतारपुर गुरुद्वारा पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के नारोवाल जिले में है, यह गुरदासपुर स्थित डेरा बाबा नानक के पास स्थित सीमा से 4.5 किमी की दूरी पर स्थित है।