breaking news New

राज्य स्तरीय युवा महोत्सव में 821 विविध कार्यक्रमों का आयोजन, पहली बार छत्तीसगढ़ के पारम्परिक लोक गीत, नृत्य, खेल और छत्तीसगढ़ी व्यंजन एक मंच में

राज्य स्तरीय युवा महोत्सव में 821 विविध कार्यक्रमों का आयोजन, पहली बार छत्तीसगढ़ के पारम्परिक लोक गीत, नृत्य, खेल और छत्तीसगढ़ी व्यंजन एक मंच में

राजधानी रायपुर में 12 से 14 जनवरी तक आयोजित राज्य युवा महोत्सव में इस बार 821 विविध कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। राज्य युवा महोत्सव में पहली बार छत्तीसगढ़ के पारम्परिक लोक गीत, नृत्य, खेल और छत्तीसगढ़ी व्यंजन का आनंद लोग उठा सकेंगे।

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के निर्देशन और खेल एवं युवा कल्याण मंत्री उमेश पटेल के मार्गदर्शन में खेल एवं युवा कल्याण विभाग द्वारा आयोजित युवा महोत्सव में 15 से 40 वर्ष आयु और 40 वर्ष से अधिक आयु के दो वर्गों में ये सभी प्रतियोगिताएं आयोजित की जाएंगी। 15 से 40 वर्ष आयु वर्ग में 613 और 40 वर्ष से अधिक आयु वर्ग में 208 विधाओं में इस तरह कुल 821 विभिन्न प्रतियोगिताएं आयोजित होंगी। इस महोत्सव में छत्तीसगढ़ की परंपरागत गीत, नृत्य, खेलों और छत्तीसगढ़ी व्यंजनों को भी पहली बार एक मंच में शामिल किया गया है। 

खेल एवं युवा कल्याण विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार युवा उत्सव में सांस्कृतिक विधाओं में हिंदुस्तानी-कर्नाटक शैली में शास्त्रीय गायन, सितार, बांसुरी, तबला, वीणा, मृदंगम, हारमोनियम, गिटार का वादन, शास्त्रीय नृत्य-मणिपुरी, ओड़िसी, भरतनाट्यम, कत्थक, कूचीपूड़ी के साथ-साथ पारम्परिक सुआ नृत्य, पंथी नृत्य, करमा नाचा, सरहुल नाचा, बस्तरियां लोक नृत्य, राउत नाचा के रंग यहां देखने को मिलेंगे।

इसके अलावा पारम्परिक खेलों में फुगड़ी, भौंरा, गेड़ी दौड़-चाल, रॉक बैण्ड (राज्य स्तर पर) के अलावा छत्तीसगढ़ी संस्कृति को उजागर करने के लिए पारम्परिक वेशभूषा प्रतियोगिता, छत्तीसगढ़ी व्यंजन पर आधारित फूड फेस्टिवल प्रतियोगिता, छत्तीसगढ़ी लोक कला एवं संस्कृति, ऐतिहासिक धरोहर, पारम्परिक एवं आदिवासी शैली से संबंधित विषय पर चित्रकला प्रतियोगिता को शामिल किया गया है। इसमें एकांकी नाटक (हिन्दी, अंग्रेजी, छत्तीसगढ़ी भाषा), वाद-विवाद (तात्कालिक, समसामयिक विषय), कबड्डी और खो-खो को भी शामिल किया गया हैं।

इस युवा उत्सव में राज्य के सभी 27 जिलों से 6 हजार 521 प्रतिभागी शामिल हो रहे हैं। इनमें 3 हजार 613 पुरूष, 2 हजार 433 महिला प्रतिभागी और 301 पुरूष और 174 महिला अधिकारी-कर्मचारी शामिल हैं। बालोद जिले से 285, बलौदाबाजार-भाटापारा से 272, बलरामपुर-रामानुजगंज से 142, बेमेतरा से 287, बीजापुर से 146, बिलासपुर से 185, दंतेवाड़ा से 215, धमतरी से 317, दुर्ग से 173, गरियाबंद से 234, बस्तर से 191, जांजगीर-चांपा से 184, जशपुर से 241, कबीरधाम से 337, कांकेर से 140, कोण्डागांव से 170, कोरबा से 368, कोरिया से 209, महासमुंद से 308, मुंगेली से 178, नारायणपुर से 339, रायगढ़ से 263, रायपुर से 334, राजनांदगांव से 290, सरगुजा से 298, सुकमा से 112 और सूरजपुर जिले से 303 प्रतिभागियों को मिलाकर कुल 6521 खिलाड़ी इस महोत्सव में शामिल होंगे।