breaking news New

येदियुरप्पा सरकार से टला संकट, रुझानों में बीजेपी को बड़ी बढ़त, कांग्रेस-जेडीएस का पत्ता साफ

येदियुरप्पा सरकार से टला संकट, रुझानों में बीजेपी को बड़ी बढ़त, कांग्रेस-जेडीएस का पत्ता साफ

कर्नाटक में पिछले हफ्ते विधानसभा के 15 सीटों पर हुए उपचुनाव के लिए जारी मतगणना में बीजेपी के लिए बड़ी राहत की खबर है। अब तक के रुझान के अनुसार बीजेपी के उम्मीदवार 11 सीटों पर आगे चल रहे हैं। वहीं, कांग्रेस पार्टी 2 सीट पर बढ़त बनाने में कामयाब हो सकी हैं। एक सीट पर निर्दलीय और एक अन्य सीट पर जेडीएस को बढ़त हासिल है।

राज्य की बीएस येदियुरप्पा सरकार के लिए ये राहत की बात इसलिए भी है क्योंकि बदली हुई परिस्थिति के बीच पार्टी को सत्ता में कायम रहने के लिए कम से कम 7 सीटों की जरूरत है। 

बीजेपी को 11 सीट पर बढ़त

बीजेपी को कर्नाटक में अथानी, केगवाड, गोकाक, येल्लापुर, हिरेकेरुर, रानीबेन्नूर, विजयानगरा, चिक्काबल्लापुर, केआर पुरा और महालक्ष्मी लेआउट सीट पर बढ़त हासिल है। कांग्रेस शिवाजीनगर और हेनाशुरू से आगे चल रही है। वहीं, जेडीएस को कृष्णाराजपेटे और यशवंतपुर सीट पर बढ़त है।

बीजेपी उम्मीदवार शिवराज हेब्बार (येल्लापुर), आनंद सिंह (विजयनगर), रमेश जारकीहोली (गोकाक), बी सी पाटिल (हीरेकेरूर), श्रीमंत पाटिल (कागवाड), के. सुधाकर (चिक्काबल्लापुर), महेश कुमातली (अथानी), अरुण कुमार गुट्टूर (रानीबेन्नुर), गोपालैया (महालक्ष्मी लेआउट) और बायरती बसवराज (के आर पुरा) आगे चल रहे हैं। 

कांग्रेस प्रत्याशी एच पी मंजूनाथ (हुनसुर) और रिजवाद अरशद (शिवाजीनगर) आगे चल रहे हैं। बीजेपी के बागी और निर्दलीय उम्मीदवार शरथ बच्चेगौड़ा होसाकोटे में पार्टी के आधिकारिक उम्मीदवार एमटीबी नागराज से आगे चल रहे हैं। बच्चेगौड़ा चिक्काबल्लापुरा लोकसभा सदस्य के बेटे बी एन बच्चेगौड़ा के बेटे हैं।

बीजेपी को राज्य की अकेले दम पर सत्ता में बने रहने के लिए 15 सीटों (जिन पर उपचुनाव हुए हैं) में कम से कम 7 सीटें जीतने की जरूरत है। उपचुनाव के बाद कर्नाटक विधानसभा में 224 सदस्य (दो सीट अब भी खाली) होंगे। इन 15 सीटों पर पांच दिसंबर को चुनाव हुए था जिसमें 67.91 प्रतिशत मतदान हुआ।

इस समय बीजेपी के पास 105 विधायक (106, एक निर्दलीय समेत) हैं, कांग्रेस के 66 और जद (एस) के 34 विधायक हैं। इनके अलावा बसपा का एक सदस्य है, एक मनोनीत विधायक है और अध्यक्ष हैं। बता दें कि जिन 15 सीटों पर के नतीजे आने हैं उनमें पूर्व में 12 पर कांग्रेस और तीन पर जेडीएस का कब्जा था।