breaking news New

रायपुर : नूरानी स्कूल राजातालाब में मौलाना अबुल कलाम आज़ाद की जयंती पर किया गया कार्यक्रम का आयोजन

रायपुर : नूरानी स्कूल राजातालाब में मौलाना अबुल कलाम आज़ाद की जयंती पर किया गया कार्यक्रम का आयोजन

स्वतंत्रता संग्राम सेनानी मौलाना अबुल कलाम आज़ाद की जयंती पर आज दिनांक 11.11.2019 को नूरानी उर्दू एजुकेशन सोसायटी के द्वारा कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में छत्तीसगढ़ राज्य वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष सलाम रिज़वी उपस्थित हुए। कार्यक्रम की अध्यक्षता छ.ग.राज्य मदरसा बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष जनाब हसन खान ने की, कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के रूप में छ.ग.राज्य वक्फ बोर्ड के माननीय सदस्य फैसल रिज़वी (अधिवक्ता) उपस्थित हुए। 


कार्यक्रम में मौलाना अबुल कलाम आज़ाद के योगदान और उनकी उपलब्धियों पर प्रकाश डाला गया। मौलाना अबुल कलाम आज़ाद ने 16 वर्ष में चार भाषाओं में दक्षता प्राप्त की थी। वे सबसे कम उम्र 42 वर्ष की आयु में अखिल भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष बने, स्वतंत्र भारत के प्रथम शिक्षा मंत्री बने। 

अपने शिक्षामंत्री के कार्यकाल में उन्होंने विश्वविधालयों का गठन किया। आई.टी.आई की स्थापना की एवं पुस्तकालय स्थापित करने की योजना बनाई। मौलाना अबुल कलाम आजाद को देश की स्वतंत्रता एवं प्रगति हेतु दिये गये योगदान के लिए उन्हें भारत सरकार द्वारा भारत रत्न से सम्मानित किया गया जो योगदान उन्होंने दिया है वह कभी भुलाया नहीं जा सकता। 

कार्यक्रम में नूरानी उर्दू स्कूल के समस्त विधार्थीयों ने यह शपथ ली कि मौलाना अबुल कलाम आजाद के बताये हुए रास्ते पर चलकर शिक्षा के उच्च शिखर पर पहुंचकर देश की सेवा करेंगे । कार्यक्रम का संचालन एवं समापन सादिक अली (अधिवक्ता) ने किया। इस अवसर पर मोहम्मद आबिद, एस.एन.हाशिम,अब्दुल मजीद खान,जफर अमजद, प्रिंसिपल जमशीद बावरा, स्कुल टीचर तहशीन अमजद, तस्लीम बानो, नसरीन के साथ समाज के बुद्धिजीवी गणमान्य उपस्थित हुए।