breaking news New

राम मंदिर फैसले से पहले वेदांती का बड़ा बयान , अयोध्या के किसी मुसलमान को न किया जाए परेशान

राम मंदिर फैसले से पहले वेदांती का बड़ा बयान , अयोध्या के किसी मुसलमान को न किया जाए परेशान

सुप्रीम कोर्ट में चल रहे रामजन्मभूमि बाबरी मस्जिद विवाद को लेकर भले ही कोर्ट में बेहद गर्म बहस चल रही हो और दोनों ही पक्षकार एक दुसरे पर आरोप प्रत्यारोप लगा रहे हों लेकिन कोर्ट से बाहर कम से कम अयोध्या में माहौल बिलकुल अलग अलग है |

एक तरफ मुस्लिम चाहते हैं मस्जिद बने तो दूसरी तरफ संत चाहते हैं मंदिर बने पर दोनों ही किसी भी सूरत में एक दुसरे को तकलीफ में नहीं देखना चाहते ,शायद यही वजह है कि जब अयोध्या के संत परमहंस दास ने बाबरी मामले के एक पैरोकार हाजी महबूब के एक स्टिंग वीडियो को लेकर हाजी के खिलाफ केस दर्ज करने की मांग की तो श्री राम जन्मभूमि न्यास के वरिष्ठ सदस्य डॉ राम विलास दास वेदांती ने आगे आकर एक बड़ा बयान दिया है |

श्री रामजन्मभूमि न्यास के वरिष्ठ सदस्य डॉ रामविलास दास वेदांती ने राम मंदिरबाबरी मस्जिद मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट के संभावित फैसले पर मुसलमानों की तारीफ की है। वेदांती ने कहा कि अदालत का जो भी फैसला हो सभी मानने को तैयार हैं। उन्होंने कहा कि मुस्लिम पक्षकार इकबाल अंसारी पहले कई बार कह चुके हैं कि सुप्रीम कोर्ट का जो भी फैसला आएगा वह सहर्ष स्वीकार करेंगे। वेदांती ने कहा कि अयोध्या के मुसलमान अयोध्या में शांति चाहते हैं। 

श्री राम जन्मभूमि न्यास के वरिष्ठ सदस्य डॉ राम विलास दास वेदांती ने कहा कि अयोध्या के मुसलमान अयोध्या के साधु संत से मिलकर साथ साथ चलने को तैयार हैं।मुसलमान भी सुप्रीम कोर्ट के निर्णय की प्रतीक्षा कर रहा है। पुरानी बातें याद दिलाते हुए वेदांती ने कहा कि इकबाल अंसारी के वालिद मरहूम हाशिम अंसारी ने भी मुलायम सिंह यादव व आजम खान से कहा था आईये अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण शुरू करते हैं। वेदांती ने कहा कि उन्हें इकबाल अंसारी पर भरोसा है कि वह सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान करेंगे।